Sad God Shayari [ भगवान पर दुख भरी शायरी ]


हैलो फ्रेंड्स, कई बार जब हम दुखी हो जाते है तो भगवान को दोष देते है उससे नाराज हो जाते है।

 इसी तरह इस पोस्ट में भगवान से जुड़ी दुख भरी Shayari हिंदी में हैं। जिसमें आपको एक दुखी इंसान की ईश्वर से शिकायत और उसका गुस्सा दिखाई देगा और भगवान के प्रति एक प्रकार की उसकी भक्ति भी पढ़ने को मिलेगी।
इसके अलावा इस वेबसाइट के पोस्ट कैटेगरी में भगवान से संबंधित और भी पोस्ट है, जैसे भगवान पर कोट्स (God Quotes)भगवान पर शायरी (God Shayari),  भगवान पर दुख भरे कोट्स (Sad God Quotes)

भगवान पर दुख भरी शायरी ( Sad Shayari On God ):



दिल और शरीर के जख्म-



Sad-god-shayari
Sad-god-shayari 

ना दिल के जख्म भरते है,
ना शरीर के भरते है।
हाय तेरी दुनिया मे खुदा,
अच्छे लोग बेमौत मरते है

na dil ke jakhm bharate hai, na shareer ke bharate hai. haay teree duniya me khuda, achchhe log bemaut marate hai.
□□□





मेरे दिल का दर्द तूझे पता नहीं-


मै मिट्टी का हूँ भगवान,
तू कहां से आया मुझे पता नहीं।
शायद तेरा दिल अलग होगा, 
मेरे दिल का दर्द तूझे पता नहीं।

mai mittee ka hoon bhagavaan, too kahaan se aaya mujhe pata nahin. shaayad tera dil alag hoga, mere dil ka dard toojhe pata nahin।


~~~~~~~~~~~~~~



इबादत-



Sad-god-shayari
Sad-god-shayari 

खुशियों पर क्या लिखू?
मुझे लिखना नहीं आता।
इबादत के बारे मे मत पूछो,
किस लिए करूँ समझ में नहीं आता।

khushiyon par kya likhoo? mujhe likhana nahin aata. ibaadat ke baare me mat poochho, kis lie karoon samajh mein nahin aata.
□□□





मुकदमे में-


पता नहीं उपर मेरे साथ क्या होगा?
मुकदमे में मालिक शरमा जाएगा?
की अपनी गरदन नीचे झुका देगा?

pata nahin upar mere saath kya hoga? mukadame mein maalik sharama jaega? kee apanee garadan neeche jhuka dega?

□□□





शिकायत-


Sad-god-shayari
Sad-god-shayari 

उसे पता था मेरी खुशी क्या है,
फिर भी निशाना उसी को बना लिया।
जब भी मै मसीहा से कुछ माँगने गया,
वो मेरा बचा-कूचा भी छीन लिया।

use pata tha meree khushee kya hai, phir bhee nishaana usee ko bana liya. jab bhee mai maseeha se kuchh maangane gaya, vo mera bacha-koocha bhee chheen liya.
□□□





मंदिर की तरफ देखने का मन नहीं-



Sad-god-shayari 

सामने वाले मंदिर की तरफ देखने का मन नहीं करता,
अब उसके सामने हाथ जोड़ना नहीं चाहता,
पत्थरों से ठोकर खाया मै,
अब पत्थर को देखने का मन नही करता।

saamane vaale mandir kee taraph dekhane ka man nahin karata, ab usake saamane haath jodana nahin chaahata, pattharon se thokar khaaya mai, ab patthar ko dekhane ka man nahee karata.
□□□




मुझे मेरे अपनों से दूर किया-


Sad God Shayari
Sad God Shayari 

अपनों से दूर किया, हर खुशियों से दूर किया,
वाह रे उपर वाले, खुदको मुझसे भी दूर किया।

Apano se dur kiya har khushiyon se dur kiya 
Vah re uparwale khudako muzase bhi dur kiya 
□□□

Related post:-


0 Comments:

Please do not enter any spam link in the comment box.